Astrochacha

Mantras

गायत्री मन्त्र GAYTRI MANTRA


Om Bhu Bhuwasvh Tat Switur Varenium 
Bhrgo Devsy Dhi Mahi Dhiyo Yonh Prechodyat.

ॐ भू भुवस्व: तत सवितुर वरेनियम ।
भर्गो देवेस्य धीमहि धियों योन: प्रचोदयात् ॥

Maha Mritunjaya Mantra

Maha Mritunjaya Mantra
Om Haum Joom Saha | Om Bhoorbhuvaha Svaha | Om Trayambakam Yajaamahe Sugandhim Pushtivardhnam Urvvarukamiva Bandhanaan Mrityormuksheeya Maamrataat Om | Svaha Bhuvaha Bhooh Om | Saha joom haum om |

Surya Graha Mantras सूर्य महाग्रह मंत्र / Sun

सूर्यदेव का स्वरूप:
सूर्यदेव की दो भूजाएं हैं। वह कमल के आसन पर विराजमान रहते हैं। उनके दोनों हाथों में कमल सुशोभित रहते हैं। उनकी कांति कमल के भीतरी भाग के जैसी है और वह सात घोड़ों के रथ पर आरूढ़ रहते हैं। सूर्यदेव की प्रतिमा का स्वरूप ऐसा ही होना चाहिए।

विशेष बातें- वेदी के मध्य में श्वेत चावलों पर सूर्य देव की प्रतिमा की स्थापना करनी चाहिए। सूर्य के अधिदेव शिव माने गए हैं। सूर्य को गुड़ और चावल से बनी खीर का नैवेद्य अर्पित करना चाहिए।

Surya Mantra
Japakusuma Samkaasham Kashyapeyam Mahadhyuthim!
Tamorim Sarva Paapagnam Pranathosmi Divakaram!!

जपाकुसुमसंकाशं काश्र्यपेयं महाद्युतिम् ।
तमोरिं सर्वपापघ्नं प्रणतोsस्ति दिवाकरम् ॥१॥

I pay homage to the Sun, the bright shining One, the maker of the day, enemy of darkness, destroyer of evils, resembling a rose, descendent of Kashyapa.

Surya : Om hram hreem hroum sah suryaya namah

Donations for Sun Planet:
Gold, wheat, jaggery, saffron, brass, red clothes or flowers should be given in charity to attain Sun’s auspiciousness.

Guru Graha Mantras गुरु महाग्रह मंत्र / Jupiter

बृहस्पति का स्वरूप
बृहस्पति देव की चार भुजाएं हैं, तीन भुजाओं में दण्ड, रुद्राक्ष की माला और कमण्डलु तथा चौथी भुजा वरमुद्रा में है। बृहस्पति की प्रतिमा पीले रंग की होनी चाहिए।
विशेष- श्वेत चावलों की वेदी के उत्तर में बृहस्पति देव की स्थापना करनी चाहिए। बृहस्पति के अधिदेव भगवान ब्रह्मा माने जाते हैं। बृहस्पति को दही-भात का नैवेद्य अर्पित करना चाहिए।

Brihaspathi Mantra
“Devaanaam cha Hrisheenaam cha Gurum kaanchana Sannibham!
Buddhibhootam trilokesham tham namaami Brihaspatheem!!

देवानां च ऋषीणां च गुरूं काञ्चनसंनिभम् ।
बुद्धिभूतं त्रिलोकेशं तं नमामि बृहस्पतिम् ॥५॥

I pay homage to Brhaspati, the guru of gods and rishis, who shines with golden luster, the embodiment of cosmic intelligence, the guiding light of the three worlds.

Guru : Om jhram jhreem jroum sah gurave namah

Donations for Jupiter Planet
Jupiter related things such as gold, brass, turmeric, honey, chana dal, saffron, yellow flowers, yellow clothes, religious textbooks etc must be donated to pacify its malefic effects to to increase the auspiciousness.